33 C
Delhi
Wednesday, October 21, 2020

चीन में मुसलमानों पर बढ़े अत्याचार, मस्जिद गिरा कर बना दिया सार्वजनिक शौचालय

चीन में उइगर मुसलमानों पर अत्याचारों का सिलसिला बढ़ता जा रहा है । कई तरह की पाबंदियां लगाकर उनके मनोबल को भी...

RELATED POST

CWC की बैठक आज, गांधी बनाम सामूहिक नेतृत्व को लेकर कांग्रेस में मतभेद, सोनिया दे सकती हैं इस्तीफा

कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन की चर्चाओं के बीच पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी आज कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) बैठक में पद से...

हरियाणा में विधायकों को करवाना होगा कोरोना टेस्ट, नहीं तो विधानसभा में No Entry

हरियाणा विधानसभा का 26 अगस्त से शुरू होने वाले मानसून सत्र के लिए विधायकों, मंत्रियों, अधिकारियों और पत्रकारों को सदन में प्रवेश...

राष्ट्रपति भवन में एट होम सेरेमनी, कोरोना संकट के चलते सादगी से मना कार्यक्रम, पीएम मोदी समेत आला दिग्‍गज शामिल

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) की ओर से स्‍वतंत्रता दिवस (Independence Day) के मौके पर राष्ट्रपति भवन में रिसेप्‍शन 'एट...

सरकार के निशाने पर गांधी परिवार के तीन ट्रस्ट, गृह मंत्रालय ने बैठाई फंडिंग की जांच

भारतीय जनता पार्टी ने बीते दिनों राजीव गांधी फाउंडेशन के लेनदेन पर सवाल खड़े किए थे. अब कुछ दिन बाद ही केंद्रीय...

बीजेपी को मिला बड़ा झटका, 44 नेता कांग्रेस में शामिल

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के बीच शह और मात के खेल का सिलसिला जारी है। इसी बीच यहां...

न खाता न बही, जो राहुल कहें वही सही, जानिए क्यों कांग्रेस में नहीं तय हो पा रहा कि ‘परिवार’ बचाया जाए या ‘पार्टी’

सुदृढ़ और उर्जावान नेतृत्व की कमी, खेमेबाजी और क्षमता की बजाय चाटुकारिता को मिल रहे प्रश्रय से जूझ रही कांग्रेस की हालत कुछ ऐसी हो गई है एक दीवार को संभालने की कोशिश होती है तो दूसरी भरभराने लगती है। सोमवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में भी यही दिखा। पार्टी के अंदर यही तय नहीं हो पा रहा है कि परिवार बचाया जाए या पार्टी। या यूं कहा जाए कि अब तक पार्टी नेता यह नहीं समझ पा रहे हैं कि परिवार और पार्टी अलग अलग है और नेता कार्यकर्ता पार्टी के लिए हैं, परिवार के लिए नहीं?

बताते हैं कि सोमवार की बैठक मे राहुल गांधी ने वरिष्ठ नेताओं का जिस तरह अपमान किया वह यही जताता है कि राहुल का भी परम विश्वास है कि परिवार ही पार्टी है। हालांकि तत्काल इसकी लीपापोती भी हो गई और कहा जाने लगा कि राहुल ने ऐसा कुछ कहा ही नहीं। जो लोग पार्टी और राहुल के तौर तरीके व कामकाज से परेशान हैं वह भी मान गए कि राहुल ने ऐसा कुछ नहीं कहा। दरअसल उन्हें आशंका है कि परिवार नाराज हुआ तो पार्टी कैसे चलेगी। अध्यक्ष का चुनाव हो भी जाए तो आशीर्वाद तो चाहिए ही।

भाजपा से साठगांठ का आरोप

जमाना सर्वे का है और इसीलिए मेरा विश्वास है कि आज जनता के बीच सर्वे हो जाए कि राहुल गांधी ने भरी बैठक में वरिष्ठ नेताओं पर भाजपा से साठगांठ का आरोप लगाया या नहीं तो अधिकतर लोग हां में जवाब देंगे। जो भी राहुल को फॉलो करते हैं वह इसे सहज समझ सकते हैं। क्या राहुल गांधी ने संप्रग (यूपीए) काल में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में हुए कैबिनेट फैसले की कापी को सार्वजनिक रूप से नहीं फाड़ा था?

क्या राहुल गांधी के समर्थक पिछली कई बैठकों में पार्टी 30-40 साल से सेवा कर रहे नेताओं को नीचा दिखाने की कोशिश नहीं की थी? यह सबकुछ जनता ने देखा और सुना है। दरअसल राहुल गांधी रौ में काम करते हैं। जिस तरह दो दर्जन नेताओं ने पहली बार खुलकर मोर्चा खोला है और निशाने पर परोक्ष रूप से राहुल ही हैं उसमें यह सहज माना जा सकता है कि उन्होंने ऐसी बातें की होंगी। यही कारण है कि हर बात पर ट्वीट करने वाले राहुल ने इतने विवादों के बाद भी ट्वीट नहीं किया।

आधार खोती जा रही है पार्टी

अब बात हो रही है कि अगले कुछ महीनों में नया अध्यक्ष चुन लिया जाएगा। लेकिन जिस तरह कांग्रेस नेता शरणागत हैं उसमें क्या यह माना जा सकता है कि गांधी परिवार की इच्छा और आशीर्वाद के बगैर कोई सफल हो सकता है। पिछले एक साल से ज्यादा वक्त से राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष नहीं है। पार्टी में उन्हें कोई जिम्मेदारी नहीं है लेकिन जो लाइन वह खींच दें वही पार्टी की लाइन। यह क्या बताता है। यह हर किसी को पता है कि वरिष्ठ नेता और बहुत सारे युवा नेता भी इस सनक से परेशान हैं। वह दबे छुपे रोना भी रोते हैं कि पार्टी आधार खोती जा रही है लेकिन रोके कौन। ऐसे में जो भी आशीर्वाद के साथ पद पाएगा वह उसी राह चलेगा। वरना ऐसा क्यों होता कि आज भी पार्टी में बड़ी संख्या में लोग सोनिया या राहुल को ही अध्यक्ष बनाए रखने की मांग करते। परिवार के संरक्षण में पार्टी चलाना शायद कांग्रेस की मजबूरी है।

लेकिन यह बात नहीं भूलनी चाहिए कि कांग्रेस में एक वक्त सीताराम केसरी अद्यक्ष हुआ करते थे। उनके समय में भी ऐसी ही था- न खाता न बही, जो केसरिया कहे वही सही। उन्हें बाहर का रास्ता दिखाकर ही सोनिया गांधी का प्रवेश हुआ था। अगर रुख वही होगा तो परेशानी बढ़नी ही है। आज सवाल उठ रहे हैं, कल विद्रोह की स्थिति हो सकती है।

Latest Posts

किराड़ी के हरसुख ब्लॉक में बिजली कर्मियों ने नंगी तारों को बदला

नई दिल्ली: किराड़ी विधानसभा क्षेत्र के हरसुख ब्लॉक के वार्ड 42 में दिल्ली टाटा पावर डिस्ट्रीब्यूशन के कर्मचारियों ने बिजली की समस्या दूर...

किराड़ी: जलभराव बना बड़ी मुसीबत, मकान गिरने से परिवार हुआ बेघर

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में जलभराव और पानी की निकासी की समस्या आम होती जा रही है. किराड़ी विधानसभा की बृज विहार कॉलोनी...

किराड़ी के कर्ण विहार पार्ट 3 में लोगों ने पार्षद रविंद्र भारद्वाज का किया घेराव

नई दिल्ली: किराड़ी विधानसभा के वार्ड 41 कर्ण विहार पार्ट 3 में साफ सफाई को लेकर आम आदमी पार्टी के पार्षद रविंद्र भारद्वाज...

किसानों से हुई बर्बरता का हिसाब लिया जाएगा -PWD प्रदेशाध्यक्ष जयकिशन शर्मा

किसानों से हुई बर्बरता का हिसाब लिया जाएगा -PWD प्रदेशाध्यक्ष जयकिशन शर्माकेंद्र सरकार द्वारा लाए गए 3 अध्यादेशों का विरोध करने के...

Don't Miss

संसद में अमित शाह ने ओवैसी की जुबान पर लगाया ताला, बीच सदन में आर-पार

लोकसभा में सोमवार को राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी को और अधिक ताकत देने वाले संशोधन बिल को पेश किया गया और चर्चा शुरु...

मुस्लिम धर्मगुरू ने किया मोदी सरकार के इस फैसले का स्वागत, धन्यवाद भी दिया

जयपुर। केंद्र की मोदी सरकार ने मदरसों में शिक्षा को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है और इस फैसले के अनुसार...

जान‍िए क्‍यों महिला ने पकड़ी दिल्‍ली के सीएम केजरीवाल की शर्ट, बोली- मेरी बात खत्‍म नहीं हुई

नई दिल्ली, दबंग खबर । दिल्‍ली की केजरीवाल सरकार के द्वारा महिलाओं के लिए मेट्रो फ्री करने के बाद से दिल्‍ली में  राजनीतिक...

नोरा फतेही का पछताओगे सॉन्ग हुआ रिलीज, गाने में विक्की को प्यार में धोखा देती दिखाई दी

दबंग खबर । विक्की कौशल (Vicky kaushal) और नोरा फतेही (Nora fatehi) का मोस्ट अवेटेड सॉन्ग 'पछताओगे' (Pachtaoge) रिलीज हो चुका है। इस गाने...

भूलकर भी महिलायें रात को न करें यह 5 काम, वरना पति के लिए बढ़ जाती है मुसीबत

भारतीय परंपरा में वास्तु शास्त्र का काफी महत्व है। भारत में इसे मानने वाले लोग भी बहुत हैं और जो लोग वास्तु...

इतने करोड़ रुपए की संपत्ति छोड़ गए हैं अरुण जेटली अपने बच्चों के लिए

दबंग खबर | पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के कद्दावर नेता अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद शनिवार को एम्स अस्पताल...

लुंगी-चप्पल पहनकर गाड़ी चलाने पर नहीं काट सकता कोई चालान, अफवाहों से रहिये सावधान

दबंग खबर | नए मोटर व्हीकल कानून लागू होने के बाद से ताबड़तोड़ चालान काटे जा रहे हैं. इस दौरान यह भी...

वॉशरूम समझकर यात्री ने खोल दिया पाक विमान का इमरजेंसी डोर, जानिये फिर क्या हुआ…

नई दिल्ली:  पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) की उड़ान में सवार एक महिला यात्री से गलती से विमान...

पहले ही टास्क को लेकर लोगो ने कहा बिग बॉस 13 फ्लॉप शो, जमकर किया ट्रोल

दबंग खबर | बिग बॉस 13 के पहले एपिसोड में सेलेब्रिटी एक्सप्रेस में क्या तड़का लगाएंगी, ये जानने के लिए फैंस बेहद...

लता मंगेशकर ने रानू मंडल को दी ‘सख्त नसीहत’, कही ये बड़ी बातें

दबंग खबर | रेलवे स्टेशन पर भीख मांगकर जिंदगी गुजारने वाली रानू मंडल अब स्टार बन चुकी है। सोशल मीडिया पर हर...
Corona Updates