33 C
Delhi
Saturday, September 19, 2020

सास-बहू ने 4 साल के मासूम की चढ़ाई थी बलि, अब कोर्ट ने सुनाई ये खौफनाक सजा

बिहार के गोपालगंज में 4 साल के मासूम को न्याय मिल गया। यहां कोर्ट ने दो महिलाओं को फांसी की सजा सुना...

RELATED POST

बेबस पिता का दर्द, ‘मैं गुहार लगाता रहा, पुलिस दुतकारती रही ऐसे कैसे बेटी पढ़ाएं, बेटी बचाएं’

दबंग खबर | देश में खूब जोरों-शोरों से बेटी पढ़ाएं, बेटी बचाओ का नारा सुनने को मिलता है। सच भी है। देखा...

बिग बॉस: सलमान के शो में होगा फुलऑन एंटरटेनमेंट, किये जाएँगे ये 13 सबसे बड़े बदलाव

दबंग खबर | कंट्रोवर्सियल शो बिग बॉस का 13वां सीजन सबसे ज्यादा एंटरटेनिंग और मसालेदार होने वाला है. सीजन 13 के 29...

Paytm को 4217 करोड़ का भारी घाटा, आमदनी अठन्नी तो खर्च रुपैया

दबंग खबर | डिजिटल पेमेंट वर्ल्ड की दिग्गज Paytm की पैरेंट कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस को 31 मार्च को खत्म पिछले वित्त वर्ष...

गणपति के जयकारे लगाते दिखे तैमूर अली खान, वीडियो वायरल

दबंग खबर | बॉलीवुड स्टार सैफ अली खान और करीना कपूर खान के बेटे तैमूर अली खान पब्लिक के फेवरेट स्टारकिड्स में...

स्मृति ईरानी ने NRC पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘कोई भी भारतीय नहीं छूटेगा’

दबंग खबर । केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) का विरोध करने पर पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) पर निशाना साधते...

शिक्षा नीति पर जल्दबाजी में प्रतिक्रिया देने की बजाय उसका अध्ययन करें- वेंकैया नायडू

नई दिल्ली न्यूज़ डेस्क । राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मसौदे में प्रस्तावित तीन भाषा फार्मूले को लेकर मचे सियासी घमासान के बीच उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने सभी पक्षों से कहा है कि वो जल्दबाजी में प्रतिक्रिया देने की बजाय मसौदा नीति का गंभीरता से अध्ययन करें। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी इस मसले पर सरकार का बचाव किया है। वहीं, कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा है कि इस फार्मूले को लागू किया गया तो क्षेत्रीय भाषाएं खत्म हो जाएंगी। माकपा का कहना है कि इससे भाषायी दुराग्रह को बल मिलेगा। तीन भाषा फार्मूले में आठवीं कक्षा तक ¨हदी को अनिवार्य बनाने की सिफारिश की गई है।

उप राष्ट्रपति नायडू ने विशाखापत्तनम में एक कार्यक्रम में कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मसौदे का विरोध करने वाले लोगों को अंतिम नतीजे पर पहुंचने से पहले उसका गंभीरता से अध्ययन, बहस और विश्लेषण करना चाहिए, ताकि सरकार उस पर चर्चा कराने के बाद आगे की कार्रवाई कर सके। तमिलनाडु के राजनीतिक दलों के विरोध का उल्लेख करते उन्होंने कहा कि हमारे देश में कुछ लोगों की आदत है कि राजनीतिक या अन्य कारणों से वो अखबारों की हेडलाइन देखते ही विरोध शुरू कर देते हैं।

वहीं, विदेश मंत्री जयशंकर ने भी रविवार को ट्वीट कर कहा, ‘मानव संसाधन विकास मंत्री को सौंपी गई राष्ट्रीय शिक्षा नीति एक मसौदा रिपोर्ट है। इस पर आम लोगों की राय ली जाएगी। राज्य सरकारों से परामर्श किया जाएगा। इसके बाद ही कोई फैसला किया जाएगा। भारत सरकार सभी भाषाओं का सम्मान करती है। कोई भी भाषा थोपी नहीं जाएगी।’

जबकि, चेन्नई में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीटर अल्फोंसे ने कहा कि अगर केंद्र सरकार द्वारा तीन भाषा फार्मूले को लागू किया जाता है तो ज्यादातर गैर-हिंदी भाषी राज्यों में क्षेत्रीय भाषाएं दम तोड़ देंगी। उन्होंने कहा कि सरकार इसके जरिए भाजपा के एजेंडे को लागू करने का प्रयास कर रही है।

मा‌र्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने एक बयान में कहा कि तीन भाषा फार्मूले को जबरन लागू करने से भाषाई दुराग्रह को बल मिलेगा, जो देश की एकता के लिए सही नहीं होगा। माकपा ने इसे तुरंत वापस लेने और नई शिक्षा नीति तैयार करने की मांग की है।

बता दें कि मशहूर वैज्ञानिक और इसरो के पूर्व प्रमुख के कस्तूरीरंगन की अगुआई वाली कमेटी ने देश भर में तीन भाषा फार्मूले को लागू करने का सुझाव दिया है। कमेटी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मसौदे को शुक्रवार को सरकार को सौंपा था।

एक भाषा थोपना ठीक नहीं : कुमारस्वामी

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा है कि दूसरों पर कोई एक भाषा नहीं थोपी जानी चाहिए।

कुमारस्वामी ने ट्वीट कर कहा कि मुझे पता है कि मसौदा शिक्षा नीति में हिंदी को लागू करने पर जोर दिया गया है। तीन भाषा फार्मूला के नाम पर एक भाषा को दूसरों पर नहीं थोपना चाहिए।

एआइएनआरसी ने भी किया विरोध

एआइएनआरसी नेता आर राधाकृष्णन ने भी तीन भाषा फार्मूले का विरोध करते हुए इसे गैर-हिंदी भाषी राज्यों पर हिंदी भाषा को थोपने की कोशिश करार दिया है।

राधाकृष्णन ने कहा कि अगर हिंदी भाषा को थोपा जाता है तो यह राज्यों के अधिकारों के लिए गंभीर खतरा होगा। पुडुचेरी दो भाषा नीति को जारी रखने पर अडिग है।

तेलंगाना-आंध्र भी आशंकित

तीन भाषा फार्मूले को लेकर आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में तमिलनाडु की तरह विरोध तो नहीं हो रहा है, लेकिन इन दोनों ही राज्यों ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मसौदे को लेकर पैदा हुई आशंका को दूर करने की मांग की है।

तेलंगाना में सत्तारूढ़ टीआरएस ने कहा है कि केंद्र सरकार मसौदा नीति सभी पक्षों को मुहैया कराए और उनकी सलाह व उनकी आशंकाओं को दूर करने के बाद ही इस पर आगे कोई कदम बढ़ाए।

वहीं, आंध्र प्रदेश के पूर्व विधायक और शिक्षाविद् के नागेश्वर ने कहा कि हिंदी भाषा का विरोध नहीं है, लेकिन केंद्र सरकार को उत्तर भारत में भी दक्षिण भारतीय भाषाओं को बढ़ावा देना चाहिए।

Latest Posts

किसानों से हुई बर्बरता का हिसाब लिया जाएगा -PWD प्रदेशाध्यक्ष जयकिशन शर्मा

किसानों से हुई बर्बरता का हिसाब लिया जाएगा -PWD प्रदेशाध्यक्ष जयकिशन शर्माकेंद्र सरकार द्वारा लाए गए 3 अध्यादेशों का विरोध करने के...

महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे को लेकर रिया चक्रवर्ती का नया खुलासा

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के केस की सबसे बड़ी सं’दिग्ध रिया चक्रवर्ती जिसके बारे में आये दिन एक नया खुलासा हो...

न खाता न बही, जो राहुल कहें वही सही, जानिए क्यों कांग्रेस में नहीं तय हो पा रहा कि ‘परिवार’ बचाया जाए या ‘पार्टी’

सुदृढ़ और उर्जावान नेतृत्व की कमी, खेमेबाजी और क्षमता की बजाय चाटुकारिता को मिल रहे प्रश्रय से जूझ रही कांग्रेस की हालत...

भारत-चीन सीमा विवाद पर बोले CDS रावत- बातचीत फेल हुई तो सैन्य कार्रवाई पर विचार

चीफ आफ डिफेंस स्‍टाफ जनरल बिपिन रावत ने सोमवार को भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि...

Don't Miss

संसद में अमित शाह ने ओवैसी की जुबान पर लगाया ताला, बीच सदन में आर-पार

लोकसभा में सोमवार को राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी को और अधिक ताकत देने वाले संशोधन बिल को पेश किया गया और चर्चा शुरु...

मुस्लिम धर्मगुरू ने किया मोदी सरकार के इस फैसले का स्वागत, धन्यवाद भी दिया

जयपुर। केंद्र की मोदी सरकार ने मदरसों में शिक्षा को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है और इस फैसले के अनुसार...

जान‍िए क्‍यों महिला ने पकड़ी दिल्‍ली के सीएम केजरीवाल की शर्ट, बोली- मेरी बात खत्‍म नहीं हुई

नई दिल्ली, दबंग खबर । दिल्‍ली की केजरीवाल सरकार के द्वारा महिलाओं के लिए मेट्रो फ्री करने के बाद से दिल्‍ली में  राजनीतिक...

इतने करोड़ रुपए की संपत्ति छोड़ गए हैं अरुण जेटली अपने बच्चों के लिए

दबंग खबर | पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के कद्दावर नेता अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद शनिवार को एम्स अस्पताल...

पहले ही टास्क को लेकर लोगो ने कहा बिग बॉस 13 फ्लॉप शो, जमकर किया ट्रोल

दबंग खबर | बिग बॉस 13 के पहले एपिसोड में सेलेब्रिटी एक्सप्रेस में क्या तड़का लगाएंगी, ये जानने के लिए फैंस बेहद...

वॉशरूम समझकर यात्री ने खोल दिया पाक विमान का इमरजेंसी डोर, जानिये फिर क्या हुआ…

नई दिल्ली:  पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) की उड़ान में सवार एक महिला यात्री से गलती से विमान...

लुंगी-चप्पल पहनकर गाड़ी चलाने पर नहीं काट सकता कोई चालान, अफवाहों से रहिये सावधान

दबंग खबर | नए मोटर व्हीकल कानून लागू होने के बाद से ताबड़तोड़ चालान काटे जा रहे हैं. इस दौरान यह भी...

नोरा फतेही का पछताओगे सॉन्ग हुआ रिलीज, गाने में विक्की को प्यार में धोखा देती दिखाई दी

दबंग खबर । विक्की कौशल (Vicky kaushal) और नोरा फतेही (Nora fatehi) का मोस्ट अवेटेड सॉन्ग 'पछताओगे' (Pachtaoge) रिलीज हो चुका है। इस गाने...

भूलकर भी महिलायें रात को न करें यह 5 काम, वरना पति के लिए बढ़ जाती है मुसीबत

भारतीय परंपरा में वास्तु शास्त्र का काफी महत्व है। भारत में इसे मानने वाले लोग भी बहुत हैं और जो लोग वास्तु...

लता मंगेशकर ने रानू मंडल को दी ‘सख्त नसीहत’, कही ये बड़ी बातें

दबंग खबर | रेलवे स्टेशन पर भीख मांगकर जिंदगी गुजारने वाली रानू मंडल अब स्टार बन चुकी है। सोशल मीडिया पर हर...
Corona Updates