33 C
Delhi
Friday, September 18, 2020

सास-बहू ने 4 साल के मासूम की चढ़ाई थी बलि, अब कोर्ट ने सुनाई ये खौफनाक सजा

बिहार के गोपालगंज में 4 साल के मासूम को न्याय मिल गया। यहां कोर्ट ने दो महिलाओं को फांसी की सजा सुना...

RELATED POST

पंजाब और आसपास के क्षेत्रों में घुसे आतंकी, हो सकता है पठानकोट जैसा हमला

दबंग खबर | जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से आतंकी हमले की फिराक में हैं. खुफिया एजेंसियों...

1 कर्ज ने छीन लीं 3 पीढ़ियां, दादा-पिता के बाद बेटे ने भी दी जान: पंजाब

दबंग खबर | पंजाब में किसानों की कर्जमाफी की योजना चला रही कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार को बड़ा झटका लगा है. एक...

लड़का 12वीं पास-लड़की बीए, सोशल मीड‍िया पर लाइव होकर दोनों ने क‍िया सुसाइड

दबंग खबर | पंजाब में संगरूर के गुर्जरा गांव के रहने वाले एक 25 साल के लड़के ने अपने ही गांव की...

पंजाब के गुरदासपुर की पटाखा फैक्ट्री में हुए धमाके से, 23 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

दबंग खबर । पंजाब (Punjab) के गुरदासपुर (Gurdaspur) के बटाला (Batala) में एक पटाखा फैक्ट्री (Fire-Crackers Factory) में भीषण आग लग गई है, जिसमें 23 लोगों की मौत...

पंजाब के गुरदासपुर की पटाखा फैक्ट्री में हुए ब्लास्ट से मची तबाही, 9 लोगों की मौत, कई लोग फंसे होने की आशंका

दबंग खबर | पंजाब के गुरदासपुर जिले के बटाला स्थित एक पटाखा फैक्ट्री में धमाका होने से 9 लोगों की मौत हो...

इस्‍तीफे पर सिद्धू का बड़ा ‘गेम’, राहुल के बाद सीएम को भी भेजा इस्तीफा, अब अमरिंदर पर नजरें

चंडीगढ़, दबंग खबर । फायर ब्रांड नेता व पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब की राजनीति को एक बार फिर गर्मा दिया है। सिद्धू ने राहुल गांधी के बाद अब पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह को भी अपना इस्‍तीफा भेज दिया है। सिद्धू ने अपने इस्‍तीफे का खुलासा कर कांग्रेस के साथ-साथ पूरे राज्‍य की राजनीति में हलचल मचा दी है। सिद्धू के अपने इस्‍तीफे का खुलासा 34 दिन दिन बाद करने और इस्‍तीफा मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह को न देकर राहुल गांधी को भेजने पर सवाल उठे। इसके बाद सोमवार को उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री को भी इस्‍तीफाा भेज दिया। इसके बाद अब सारी निगाहें सीएम कैप्‍टन अमरिंदर पर लग गई है।

दूसरी ओर, पूरे सिद्धू के इस्‍तीफे को लेकर सियासी गलियारे में चर्चाएं गर्म है। पूरे प्रकरण को सिद्धू का हाईप्रोफाइल ‘गेम’ माना जा रहा है। कहा जा रहा है कि सिद्धू ने इसके माध्‍यम से कांग्रेस को दुविधा में डालने के साथ ही दबाव की राजनीति भी कर रहे हैं। सबकी नजर कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के कदम और सिद्धू के अगले दांव पर लग गई है।

सिद्धू ने 40 दिन बाद भी नहीं संभाला था नया विभाग, पहले सीएम को इस्‍तीफा नहीं भेजने पर उठे सवाल  

बता दें कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा विभाग में बदलाव किए जाने से नाराज नवजोत सिंह सिद्धू ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा का ऐलान रविवार को किया था। उन्‍होंने अपना इस्तीफा 10 जून को राहुल गांधी को सौंपा था, लेकिन इसका खुलासा 14 जुलाई को किया। इस्तीफा भी राहुल को संबोधित करते हुए लिखा गया जो सरकारी स्तर पर कोई मायने नहीं रखता है। हालांकि बाद में सिद्धू ने पुन: ट्वीट कर कहा कि वह अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री को भी भेज देंगे।

इसके बाद सोमवार सुबह सिद्धू ने ट्वीट कर जानकारी दी की उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री को भी अपना इस्‍तीफा भेजने की जानकारी दी। ट्वीट में सिद्धू ने लिखा है, आज मैंने अपना इस्‍तीफा पंजा के मुख्‍यमंत्री को उनके सरकारी आवास पर भेज दिया।

अब नजरें कैप्‍टन अमरिंदर के कदम पर, चर्चां इस्‍तीफा हो सकता है नामंंजूूर भी

बता दें 6 जून को मुख्यमंत्री द्वारा 13 मंत्रियों के विभाग बदले गए थे। सिद्धू से स्थानीय निकाय विभाग लेकर बिजली महकमा दे दिया गया था जिससे वह नाराज थे और नए विभाग का कार्यभार नहीं संभाला था । उन्होंने 9 जून को पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। इस दौरान पार्टी की महासचिव प्रियंका भी मौजूद थीं। राहुल ने कैप्टन व सिद्धू के बीच विवाद को खत्म करने के लिए वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को जिम्मेदारी सौंपी थी।

सिद्धू ने अब खुलासा किया है कि उन्होंने राहुल को उसी दिन अपना इस्तीफा सौंप दिया था। इस्तीफे में उन्होंने महज दो लाइनों में लिखा है कि वह पंजाब सरकार के मंत्री पद से इस्तीफा देते हैैं। इसके बाद से ही उन्होंने चुप्पी साध ली थी। न तो अपने विभाग की जिम्मेदारी संभाली और न ही पंजाब में पार्टी के किसी नेता और मंत्री के संपर्क में रहे।

इस बीच मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब के तीन कैबिनेट मंत्री जरूर अहमद पटेल से मिले। लेकिन राहुल गांधी द्वारा अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद से ही पार्टी हाईकमान में लगातार खींचतान चल रही है। ऐसे में हाईकमान की तरफ से कोई भी सकारात्मक संकेत न मिलता देख सिद्धू ने अपना इस्तीफा ट्विटर एकाउंट पर पोस्ट कर सार्वजनिक कर दिया।

शुरू से ही रहे विवादों में

अगस्त 2018 में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा करतारपुर कॉरिडोर के नींव पत्थर रखने के समारोह में सिद्धू गए थे। तभी से उनके व कैप्टन के बीच दरार पडऩे लगी थी। कैप्टन नहीं चाहते थे कि सिद्धू उस समारोह में जाएं। उन्होंने सिद्धू को फोन करके मना भी किया, लेकिन सिद्धू नहीं माने। सिद्धू न सिर्फ पाकिस्तान गए बल्कि समारोह में वहां के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा से गले भी मिले। जिसे लेकर खासा बवाल मचा। कैप्टन ने भी इसका विरोध किया।

कहा था- कैप्टन अमरिंदर मेरे कैप्टन नहीं

पांच राज्यों के चुनाव प्रचार पर गए सिद्धू ने एक प्रेस वार्ता में कहा था कि कैप्टन अमरिंदर पंजाब के कैप्टन हो सकते हैं, मेरे नहीं। मेरे कैप्टन राहुल गांधी हैं। सार्वजनिक तौर पर सिद्धू द्वारा ऐसा कहने पर वह निशाने पर आ गए थे। विवाद बढ़ने पर उन्‍होंने कैप्‍टन अमरिंदर सिंह से माफी मांगी थी और उनको पितातुल्‍य बताया था।

लोकसभा चुनाव के दौरान पहले तो वह पंजाब में कांग्रेस के चुनाव प्रचार से दूर रहे और जब चुनाव प्रचार के अंतिम दिन इससे जुड़े तो जनसभा में सीधे कैप्‍टन अमरिंदर पर हमला कर दिया। उन्‍होंन कैप्‍टन अमरिंदर सिंह की बादलों (प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर बादल) से मिलीभगत का आरोप लगा दिया। इसके बाद कैप्‍टन ने भी सिद्धू पर पलटवार किया।

दिखाते रहे पाकिस्तान प्रेम

पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर हमले के बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंंह ने विधानसभा में पाकिस्तान के प्रति कड़ा रुख अपनाने को लेकर बयान दिया। दूसरी तरफ विधानसभा के बाहर सिद्धू ने कहा कि किसी एक व्यक्ति या संगठन के लिए पूरे राष्ट्र को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता है।

कैप्टन से दूरी बढऩे की मुख्य वजहें

सिद्धू के कई बयानों की वजह से कैप्टन से उनकी दूरी बढ़ती गई। लोकसभा चुनाव प्रचार के आखिरी दिन 17 मई सिद्धू ने बठिंडा में रैली को संबोधित करते हुए बिना किसी का नाम लिए कहा था कि मिल-बांट कर खाने वालोंं को ठोक दो। उनका इशारा साफ तौर पर कैप्टन अमरिंदर सिंह और बादलों की ओर था। यही नहीं, सिद्धू ने कहा था कि बेअदबी कांड पर जस्टिस रंजीत सिंह आयोग की रिपोर्ट पर कार्रवाई करने की बजाए एसआइटी बनाने की क्या जरूरत थी। लोकसभा चुनाव में टिकट न मिलने पर सिद्धू की पत्नी डॉ. नवजोत कौर ने भी कैप्टन पर निशाना साधा था कि कैप्टन के कहने पर ही टिकट काटा गया। सिद्धू ने भी अपनी पत्नी के आरोपों की पुष्टि की थी।

——-

 …तो सिद्धू हो जाते बिना विभाग के मंत्री

 सिद्धू के इस्तीफा देने की बात तब सामने आई है जब कांग्र्रेस सरकार इस बात पर विचार कर रही थी कि सिद्धू से विभाग वापस ले लिया जाए। 6 जून को उनका विभाग बदला गया था, लेकिन सवा माह बाद भी उन्होंने चार्ज नहीं संभाला था। इससे सरकार पर भी दबाव बनने लगा था क्योंकि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को बिजली महकमा देखना पड़ रहा था।

यह पहला ऐसा मौका था कि किसी मंत्री ने इतने दिनों तक अपने विभाग की जिम्मेदारी नहीं संभाली। इस वजह से कांग्रेस सरकार की खासी किरकिरी हो रही थी। सिद्धू के कार्यभार न संभालने से कांग्रेस समेत सरकार की फैसला लेने की क्षमता पर भी सवाल उठ रहे थे। यही वजह है कि कांग्रेस सरकार इस बात पर विचार कर रही थी कि क्यों न सिद्धू से बिजली विभाग वापस ले लिया जाए। ऐसी सूरत में सिद्धू कैबिनेट मंत्री तो रहते, लेकिन बिना किसी विभाग के। इसी दौरान सिद्धू के इस्तीफे की बात सामने आ गई। जब तक उनका इस्तीफा मुख्यमंत्री तक नहीं पहुंचता तब तक कोई भी फैसला नहीं लिया जा सकता है।

कैप्टन कर सकते हैैं इस्तीफा नामंजूर

सिद्धू के इस्तीफे को लेकर पार्टी में गहन मंथन शुरू हो गया है। पार्टी में कुछ का मानना है कि मुख्यमंत्री को इस्तीफा मंजूर कर लेना चाहिए क्योंकि सिद्धू ने कैप्टन को चुनौती पेश की थी और खुद कैप्टन को कहना पड़ा था कि वह उन्हें हटाकर मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं। दूसरा विचार इस बात को लेकर है कि सिद्धू का इस्तीफा स्वीकार न करके उन्हें विभाग ज्वाइन करने का एक मौका देना चाहिए। ऐसी स्थिति में मुख्यमंत्री की राष्ट्रीय स्तर पर छवि और मजबूत होगी। कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर पर उठापटक के बीच सिद्धू को लेकर कैप्टन क्या फैसला लेंगे, इस पर सबकी नजर लगी रहेगी।

Latest Posts

किसानों से हुई बर्बरता का हिसाब लिया जाएगा -PWD प्रदेशाध्यक्ष जयकिशन शर्मा

किसानों से हुई बर्बरता का हिसाब लिया जाएगा -PWD प्रदेशाध्यक्ष जयकिशन शर्माकेंद्र सरकार द्वारा लाए गए 3 अध्यादेशों का विरोध करने के...

महाराष्ट्र के मंत्री आदित्य ठाकरे को लेकर रिया चक्रवर्ती का नया खुलासा

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के केस की सबसे बड़ी सं’दिग्ध रिया चक्रवर्ती जिसके बारे में आये दिन एक नया खुलासा हो...

न खाता न बही, जो राहुल कहें वही सही, जानिए क्यों कांग्रेस में नहीं तय हो पा रहा कि ‘परिवार’ बचाया जाए या ‘पार्टी’

सुदृढ़ और उर्जावान नेतृत्व की कमी, खेमेबाजी और क्षमता की बजाय चाटुकारिता को मिल रहे प्रश्रय से जूझ रही कांग्रेस की हालत...

भारत-चीन सीमा विवाद पर बोले CDS रावत- बातचीत फेल हुई तो सैन्य कार्रवाई पर विचार

चीफ आफ डिफेंस स्‍टाफ जनरल बिपिन रावत ने सोमवार को भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि...

Don't Miss

मुस्लिम धर्मगुरू ने किया मोदी सरकार के इस फैसले का स्वागत, धन्यवाद भी दिया

जयपुर। केंद्र की मोदी सरकार ने मदरसों में शिक्षा को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है और इस फैसले के अनुसार...

संसद में अमित शाह ने ओवैसी की जुबान पर लगाया ताला, बीच सदन में आर-पार

लोकसभा में सोमवार को राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी को और अधिक ताकत देने वाले संशोधन बिल को पेश किया गया और चर्चा शुरु...

जान‍िए क्‍यों महिला ने पकड़ी दिल्‍ली के सीएम केजरीवाल की शर्ट, बोली- मेरी बात खत्‍म नहीं हुई

नई दिल्ली, दबंग खबर । दिल्‍ली की केजरीवाल सरकार के द्वारा महिलाओं के लिए मेट्रो फ्री करने के बाद से दिल्‍ली में  राजनीतिक...

इतने करोड़ रुपए की संपत्ति छोड़ गए हैं अरुण जेटली अपने बच्चों के लिए

दबंग खबर | पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के कद्दावर नेता अरुण जेटली का लंबी बीमारी के बाद शनिवार को एम्स अस्पताल...

पहले ही टास्क को लेकर लोगो ने कहा बिग बॉस 13 फ्लॉप शो, जमकर किया ट्रोल

दबंग खबर | बिग बॉस 13 के पहले एपिसोड में सेलेब्रिटी एक्सप्रेस में क्या तड़का लगाएंगी, ये जानने के लिए फैंस बेहद...

वॉशरूम समझकर यात्री ने खोल दिया पाक विमान का इमरजेंसी डोर, जानिये फिर क्या हुआ…

नई दिल्ली:  पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) की उड़ान में सवार एक महिला यात्री से गलती से विमान...

लुंगी-चप्पल पहनकर गाड़ी चलाने पर नहीं काट सकता कोई चालान, अफवाहों से रहिये सावधान

दबंग खबर | नए मोटर व्हीकल कानून लागू होने के बाद से ताबड़तोड़ चालान काटे जा रहे हैं. इस दौरान यह भी...

नोरा फतेही का पछताओगे सॉन्ग हुआ रिलीज, गाने में विक्की को प्यार में धोखा देती दिखाई दी

दबंग खबर । विक्की कौशल (Vicky kaushal) और नोरा फतेही (Nora fatehi) का मोस्ट अवेटेड सॉन्ग 'पछताओगे' (Pachtaoge) रिलीज हो चुका है। इस गाने...

भूलकर भी महिलायें रात को न करें यह 5 काम, वरना पति के लिए बढ़ जाती है मुसीबत

भारतीय परंपरा में वास्तु शास्त्र का काफी महत्व है। भारत में इसे मानने वाले लोग भी बहुत हैं और जो लोग वास्तु...

लता मंगेशकर ने रानू मंडल को दी ‘सख्त नसीहत’, कही ये बड़ी बातें

दबंग खबर | रेलवे स्टेशन पर भीख मांगकर जिंदगी गुजारने वाली रानू मंडल अब स्टार बन चुकी है। सोशल मीडिया पर हर...
Corona Updates